Diwali 2021: ऑटो सेक्टर के लिए पिछले 10 साल में ये सबसे बुरी दिवाली, FADA के आंकड़े बयां करते सच्चाई!

दिवाली का सीजन त्योहारी खरीद का मौसम होता है. सोना-चांदी,ऑटोसेक्टरकेलिएपिछलेसालमेंयेसबसेबुरीदिवालीFADAकेआंकड़ेबयांकरतेसच्चाई प्रॉपर्टी, कपड़ों से लेकर नई गाड़ियों तक की खरीद के लिए फेस्टिव सीजन नवरात्रि से शुरू हो जाता है. लेकिन इस बार गाड़ियों की सेल के लिए ये पिछले 10 साल में सबसे बुरा फेस्टिव सीजन है.देशभर के ऑटोमोबाइल डीलरों के संगठन फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) का कहना है कि ये पिछले 10 साल का सबसे बुरा फेस्टिव सीजन है. पिछले साल कोरोना के असर से जूझ रही अर्थव्यवस्था में भी इतना बुरा फेस्टिव सीजन नहीं रहा, जितना 2021 का है.FADA ने अक्टूबर 2021 के गाड़ियों की सेल के आंकड़े जारी करने के साथ ये बात कही है. FADA देशभर के ऑटो डीलरशिप पर होने वाली गाड़ियों की रिटेल सेल के आंकड़े जुटाता है.FADA के मुताबिक अक्टूबर 2021 में पैसेंजर व्हीकल की सेल अक्टूबर 2020 के मुकाबले 22% गिरी है. इस दौरान मात्र 2,60,162 गाड़ियों की बिक्री हुई जबकि पिछले साल इसी महीने में ये सेल 3,33,981 गाड़ियों की थी. इतना ही नहीं 2-व्हीलर सेगमेंट की सेल भी अक्टूबर 2021 में 25.6% गिरकर महज 14,77,313 यूनिट रही है. पिछले साल इसी महीने ये 19,85,690 यूनिट थी.बस कमर्शियल व्हीकल सेगमेंट में ही हालत थोड़े बेहतर नजर आ रहे हैं. इस दौरान 61,325 कमर्शियल व्हीकल की बिक्री हुई है जो पिछले साल अक्टूबर के 59,420 यूनिट के सेल से 3.21% अधिक है.FADA के अध्यक्ष विंकेश गुलाटी ने एक बयान में कहा कि फेस्टिव सीजन में गाड़ियों की सेल के रफ्तार नहीं पकड़ने की एक बड़ी वजह चिप या सेमीकंडक्टर की वैश्विक स्तर पर छाई कमी है. इस वजह से मार्केट में एसयूवी, कॉम्पैक्ट एसयूवी और लक्जरी गाड़ियों की भारी कमी है.